1. एकवार्षिक पंजी का, साधारण, जिसमे प्रदूषण उत्सर्जन स्तर के लिये जाँच किये गये मोटर वाहन की विशिस्टियों का उल्लेख रहेगा:
  • I. प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण-पत्र संख्या.
  • II. जाँच किये गये वाहन की निबन्धन संख्या, निर्माता, मॉडल तथा निबन्धन का वर्ष .
  • III. निरीक्षण के समये गैस/धुएं का स्तर / कार्बन मोनोऔक्सइडका प्रतिशत
  • 2. निरीक्षण किये गये मोटर वाहन की निबन्धन संख्या,निरीक्षण के परिणाम तथा निर्गत किये गये प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण-पत्र की संख्या के संबंध मे जानकारी देते हुए अनुज्ञप्ति प्राधिकार को अगले माह के पाँच तारीख तक मासिक प्रतिवेदन देना .
  • 3. अपने केंद्र पर मोटर यान निरीक्षक या परिवहन विभाग के उच्चतर पंक्ति के किसी अधिकारी के निरीक्षण के लिये खुला रखना साथ ही केंद्र द्वारा संधारित सभी उपकरण एवं अभिलेख उपलब्ध कराना ।
  • 4. मोटर वाहन की किसी भी त्रुटि को दूर करना, केंद्रीय मोटर वाहन नियमावली, 1989 के नियम – 115 के उप नियम (2) के उपबंधों के अनुपालन ।
  • 5. बिहार मोटर गाड़ी (संशोधन) नियमावली, 2003 के नियम – 163 ‘ग’ के अधीन विहित फीस से अधिक प्रचारित नहीं करना ।
  • 6. अनुज्ञापन प्राधिकार के लिखित पूर्वानुमोदन के बिना जाँच केंद्र को अनुज्ञप्ति मे उल्लिखित परिसर से न हटाना .
  • 7. प्रदूषण जाँच के लिए मोटर वाहन देने वाले मालिक या चालक के वाहन की जाँच शीघ्र की जाएगी तथा उन्हें जाँच केंद्र का मालिक अनिवार्य रूप से प्रदूषण नियंत्रण प्रमाण-पत्र शीध्र देगा .
  • 8. प्रदूषण जाँचकेंद्र का मालिक चालक को संकेत देते हुए प्रदूषण जाँच केंद्र नामक एक साईन बोर्ड सहज दृश्यस्थल पर लगायेगा जिसमे उसका नाम, अनुज्ञप्ति संख्या तथा स्थान का नाम उल्लिखितरहेंगे .
  • 9. प्रदूषण जाँच केंद्र का मालिकप्रदूषण नियंत्रण प्रमाण-पत्र की 100 पन्नों की तीन प्रतियों मे बंधी हुई पुस्तिका, प्रत्येक पर क्रम से नंबर अंकित होगी, संधारित करेगा और प्रत्येक पुस्तिका अनुज्ञापन प्राधिकार अथवा उसके द्वारा प्राधिकृत किसी अधिकारी द्वारा अभिप्रमाणित होगी .
  • 10. अनुज्ञप्तिधारी को विभागीय अधिसूचना संख्या 3144 दिनांक 05/08/2004 एवं विभागीय परिपत्र संख्या 4064 दिनांक 12/10/2004 मे निहित शर्तों का पालन करना होगा
  • 11. अनुज्ञप्तिधारी विभाग द्वारा अनुमोदित प्रपत्र मे ही प्रदूषण प्रमाण-पत्र निर्गत करेंगे.
  • 12. प्रदूषण जाँच केंद्र मे वेव–कैमरा का ही प्रयोग किया जायेगा । उपर्युक्त मे से किसी भी शर्त के उल्लंघन की स्थिति मे अनुज्ञप्ति रद की जा सकेगी .